Wakt Shayari in hindi

Wakt Shayari In Hindi – वक्त पर शायरी।

Wakt is the most valuable thing in the world, it should never be taken lightly because in this world everything can be bought but time spent is not, so we should not waste time. A person who makes proper use of time is definitely successful in his life. Whenever bad times come, some relationships and friends get separated from us, then we come to know who was our true partner and who was Fake. In this post, we have brought Wakt Shayari in Hindi which you must share with the people who change with the times.

Wakt Shayari In Hindi

Read Also – Sorry Shayari

Read Also – Attitude Shayari

Wakt Shayari in hindi

तू बस वक्त से दोस्ती कर
बाकी सब तुमसे दोस्ती करेंगे।

Tu bas wakt se dosti kar, baki sab tumse dosti karenge.

बुरे वक़्त में भी एक अच्छाई होती है,
जैसे ही ये आता है फ़ालतू के दोस्त
विदा हो जाते है।

Bure wakt me bhi ek achchai hoti hai, Jeise hi ye aata hai faltu ke dost vida ho jate hai.

उनका भरोसा मत करों
जिनका ख्याल वक्त के साथ बदल जाएँ,
भरोसा उनका करो जिनका ख्याल वैसे ही रहे
जब आपका वक्त बदल जाए।

Unka bharosha mat karo jinka khayal wakt ke saath badal jaye, Bharosha unka karo jinka khyaal veisa hi rahe jab aapka wakt badal jaye.

आज वक्त नहीं है उनके पास हमारे लिए,
पहले वक्त ही वक्त था वक्त-वक्त की बात है।

Aaj waqt nhi he unake paas hamare liye, Pahale waqt hi waqt tha wakt-wakt ki baat hai.

कितना चालक है मेरा यार भी,
उसने तोहफे मे घडी तो दी है,
मगर कभी वक़्त नहीं दिया। Best Wakt Shayari Hindi

Kitna chalak he mera yaar bhi, usane tohfe me ghadi to di hai, magar kabhi wakt nhi diya.

वक़्त सभी को मिलता है ज़िन्दगी बदलने
के लिए पर ज़िन्दगी दोबारा नहीं मिलती
वक़्त बदलने के लिए।

Wakt sabhi ko milta hai zindagi badalne ke liye par zindagi dobara nhi milti wakt badalne ke liye.

लगा कर हमे आदत अपनी इस मोहब्बत की अब,
कहते हो दूर रहो हमसे मेरे पास वक़्त नही अब।

Lagakar hame aadat apni iss mohabbat ki ab, kahate ho dur raho humse mere paas wakt nhi hai ab.

हर रोता हुआ लम्हा मुस्कुराएगा,
तु सब्र रख अपना भी वक्त आयेगा।

Har rota hua lamha muskurayega, Tu sabra rakh apna bhi waqt aayega.

कौन कितनी दूरी तय कर पाएगा,
ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

Kon kitni duri tay kar payega, ye to aane waala wakt hi batayega.

ए वक्त जरा संभल के चल कुछ बुरे
लोगो का कहना है कि तू सबसे बुरा है।

Ae wakt jara sambhal ke chal kuch bure logo ka kahna hai ki tu sabse bura hai.

वक्त आने पर करवा देंगे हदो का एहसास,
कुछ तालाब खुद को समंदर समझ बैठे है।

Waqt aane par karva denge hado ka ehsaans, kuch talab khud ko samandar samajh bethe hai.

वक्त की यारी तो
हर कोई कर लेता है,
मजा तो तब है जब
वक़्त बदले और यार न बदले।

Wakt ki yaari to har koi kar leta hai, maja to jab hai jab wakt badale our yaar na badle.

वक्त तू कितना भी सता ले हमे लेकिन याद रख,
किसी मोड़ पर तुझे भी बदलने पर मजबूर कर देंगे…।

Wakt tu kitna bhi sata le hame lekin yaad rakh, kisi mod par tujhe bhi badalne par majbur kar denge.

Wakt Ki Kimat Shayari

वक्त आने दे बता देंगे तुझे ए आसमां,
हम अभी से क्या बताएं क्या हमारे दिल में हैं।

Wakt aane de bata denge tujhe ae aasma, Hum abhi se kya bataye kya hamare dil me hai.

वक़्त जैसे ही बुरा आया पता
लग गया कौन अच्छा था और
कौन बुरा था।

Wakt jese hi bura aaya pata lag gaya koun accha tha our koun bura tha.

आँखो में यु समन्दर लिए किनारे कि तलाश में हूँ,
इस वक्त को वक्त देकर वक्त पाने कि आस में हूँ।

Aankhon mein yun samandar liye Kinare ki talash me hu, iss wakt ko waqt dekar wakt paane ki aas me hu.

“गीता” में लिखा है निराश मत होना,
कमजोर तेरा वक्त है तू नहीं।

“Geeta” Me likha hai nirash mat hona, kamjor tera wakt hai, tu nahi.

वक्त के साथ वह भी आगे बढ़ गए,
बस हमें भूल कर किसी और के हो गए।

Wakt se saath vah bhi aage bad gaye, bas hame bhool kar kisi our ke ho gaye.

मेरे और तुम्हारे दरमियां हुनर
का अंतर है क्योंकि हमको
सिखाया है वक्त ने और आप
को सिखाया है किताब ने।

Mere our tumhare darmiya hunar ka antar hai kyoki humko sikhaya hai waqt ne aap ko sikhaya hai kitaabon ne.

वक़्त से लड़कर जो अपना नसीब बदल दे,
इंसान वही जो अपनी तकदीर बदल दे,
कल क्या होगा कभी ना सोचो..
क्या पता कल वक़्त खुद अपनी तस्वीर बदल दे।

Wakt se ladkar jo apna nashib badal de, Insaan vahi jo apni taqdeer badal de, kal kya hoga kabhi na socho, kya pata kal wakt khud apni tasveer badal de.

Friends, we hope that you have liked Hindi Shayari on time, if you want to get such poetry every day, then definitely follow us on Facebook and Instagram.